मणिपुर विधानसभा चुनावों (Manipur Assembly Elections) में पहली बार वरिष्ठ नागरिक, कोविड पेशेंट (Covid19) और विकलांग व्यक्ति घर से डाक मतपत्र के जरिए वोटिंग कर सकेंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) सुशील चंद्रा (CEC Sushil Chandra) ने कहा कि ये प्रक्रिया देश में पहली बार हो रही है। 

सीईसी (CEC) ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक, कोविड -19 संदिग्ध या प्रभावित व्यक्ति और विकलांग व्यक्ति संबंधित उम्मीदवार के प्रतिनिधि, माइक्रो ऑब्जर्वर, बूथ स्तर के अधिकारियों (बीएलओ) की उपस्थिति में अपने घरों में पोस्टल बैलेट (postal ballot) के माध्यम से अपना वोट डालेंगे। चंद्रा ने मीडिया से कहा, मतदाताओं के दरवाजे पर यह नई पहल पूरी गोपनीयता और पारदर्शिता का पालन करते हुए की जाएगी। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जाएगी। सीईसी ने कहा कि पोस्टल बैलेट सुविधा एक वैकल्पिक सेवा है और यह पूरी गोपनीयता सुनिश्चित करेगी।

सीईसी (CEC) ने खुशी व्यक्त की कि मणिपुर में कुल 749 ऐसे मतदाता हैं, जिन्होंने 100 वर्ष की आयु को पार कर लिया है। सेनापति जिले में अधिकत 110 शताब्दी मतदाता हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी और जिला चुनाव अधिकारियों को ऐसे मतदाताओं को सम्मानित करने का निर्देश दिया है जो युवाओं के लिए रोल मॉडल के रूप में कार्य कर सकते हैं। चुनावों को सुलभ बनाने के लिए किए गए उपायों पर जोर देते हुए चंद्रा ने कहा कि राज्य में विकलांग और वरिष्ठ नागरिक मतदाताओं को पिकअप-ड्रॉप, व्हील चेयरसस स्वयंसेवकों की मौजूदगी और पोस्ट बैलेट जैसी सुविधा दी जाएगी।