मणिपुर में प्रमुख नदियां बाढ़ के स्तर से ऊपर बह रही हैं, जबकि कुछ चेतावनी स्तर से ऊपर बह रही हैं क्योंकि राज्य पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश की चपेट में है। जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इम्फाल घाटी क्षेत्र से बहने वाली प्रमुख नदियों का जलस्तर निम्न है।


रविवार शाम 5 बजे मिनुथोंग में इंफाल नदी का स्तर 787.00 मिमी था, जबकि इसका चेतावनी स्तर 785.900 मिमी और बाढ़ का स्तर 786.900 मिमी है। रविवार शाम 5 बजे लिलोंग क्षेत्र में जल स्तर 780.700 मिमी दर्ज किया गया था; जबकि इसका चेतावनी स्तर 780.350 मिमी और बाढ़ का स्तर 781.350 मिमी है।

यह भी पढ़ें- नॉर्थईस्ट पहुंचा Agnipath Scheme का विरोध, मणिपुर कांग्रेस ने सरकार से योजना को वापस लेने की मांग

नंबुल नदी: शाम 5 बजे हम्प ब्रिज पर जल स्तर 782.225 मिमी था; इसका चेतावनी स्तर 781.175 मिमी और बाढ़ का स्तर 782.175 मिमी है।

थौबल नदी: शाम 5 बजे जल स्तर 774.00 मिमी था; इसका चेतावनी स्तर 778.915 मिमी और बाढ़ का स्तर 779.915 मिमी है।


मणिपुर नदी : शाम 5 बजे जलस्तर 762.200 मिमी पर पहुंच गया, जबकि इसका चेतावनी स्तर 769.280 मिमी और बाढ़ का स्तर 769.300 है.


यह भी पढ़ें- उपचुनाव प्रचार के लिए असम मुख्यमंत्री हिमंता पहुंचे त्रिपुरा, पदयात्रा कर भाजपा के लिए मांगे वोट


इरिल नदी: दोपहर 2 बजे इसका जलस्तर 774.500 मिमी, जबकि इसका चेतावनी स्तर 786.700 मिमी और बाढ़ का स्तर 787.700 मिमी था.

नंबोल नदी: दोपहर 2 बजे जल स्तर 774.400 मिमी था; इसका चेतावनी स्तर 772.700 मिमी और बाढ़ का स्तर 773.700 मिमी है।

स्थिति को नियंत्रित करने के लिए इथाई बैराज के गेट नंबर 2 और 3 को खोल दिया गया. इंफाल बैराज के सभी गेट भी खोल दिए गए।