मणिपुर में विधानसभा चुनाव 2022 होने वाले हैं लेकिन इससे पहले ही यहां राजनीति पारा गरमाया हुआ है। BJP पहले की कांग्रेस (Congress) का सुपड़ा साफ करने में लगी लेकिन साथ ही कुछ क्षेत्रीय पार्टियां भी है जो कांग्रेस पत्ता साफ करने की पूरजोर लगा रही है। हाल ही में कांग्रेस ने भीड़ की हिंसा में कथित संलिप्तता के लिए भाजपा युवा विंग के अध्यक्ष और पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ इंफाल पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।


MPCC महासचिव हरेश्वर गोस्वामी ने आरोप लगाया कि " अध्यक्ष बरिश शर्मा के नेतृत्व में भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के लगभग 20 से 30 सदस्यों ने शाम में इंफाल में पार्टी कार्यालय पर धावा बोल दिया। उन्होंने MPCC के मुख्य द्वार पर लाठी, पत्थर जैसे घातक हथियारों से हमला किया "।
उन्होंने आरोप लगाया कि " BJYM के सदस्यों ने असंसदीय रूप से नारेबाजी और भड़काऊ नारे लगाते हुए कार्यालय गेट पर खड़े युवा कांग्रेस और NSUI के पदाधिकारियों को लात मारी, घूंसा मारा और धक्का दे दिया ।"

उन्होंने MPCC कार्यालय के सामने हमारे राष्ट्रीय नेताओं का पुतला भी फूंका। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे की घटना के एक दिन बाद BJYM सदस्यों ने इंफाल में कांग्रेस पार्टी कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। विरोध के दौरान उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का पुतला भी फूंका।