इम्फाल। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने सोमवार को मणिपुर के उग्रवादियों (Manipur militants) से सरकार के साथ बातचीत करने के लिए आगे आने की अपील की। सिंह ने कहा कि सरकार बातचीत करने और उग्रवाद तथा मणिपुर के सभी समस्याओं का समाधान करने के लिए तैयार है। 

इस दौरान उन्होंने सीमाओं की रक्षा के लिए मणिपुर के सैनिकों का भी आभार जताया। उन्होंने सिंगजामेई में वाई खेमचंद और लांगथाबल से भारतीय जनता पार्टी (BJP) उम्मीदवार करम श्याम के लिए लंगथाबल में चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सिंह ने कहा कि वह एक उम्मीदवार के समर्थकों द्वारा समर्थन के संकेत के रूप में भोजन, सब्जियां, मिठाई लाने की परंपरा को देखकर खुश हैं। 

उन्होंने कहा, 'पूरी दुनिया अब भारत का सम्मान करती है और हम दुनिया को दिखा रहे हैं कि हम जो हमारे देश पर हमला करेगा, तो हम अपनी सीमा से परे कहीं कहीं भी हमला कर सकते हैं।' रक्षा मंत्री ने कहा, 'देश में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के आने के बाद सुशासन और विकास देखने को मिला। मैं चाहता हूं कि मणिपुर तथा पूर्वोत्तर का विकास (Manipur and north east devlopment) देश के पर्यटन केंद्र के रूप में हो।'

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने यातायात की सुविधा प्रदान करने के लिए काम किया है। जिसे मणिपुर में रेलवे परियोजना की प्रगति से देखा जा सकता है। उन्होंने कांग्रेस पर पूर्वोत्तर राज्यों का विरोधी होने का आरोप लगाया और कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने पूर्वोत्तर के विकास के लिए एक नए मंत्रालय का गठन किया था। सिंह ने कहा कि भाजपा जो वादा करेगी, उसे पूरा करेगी। 

उन्होंने कहा कि लोगों का राजनेताओं के प्रति अविश्वास उनकी (राजनेताओं) की कथनी और करने में अंतर के कारण है। उन्होंने कहा कि केंद्र हो या राज्य सरकारें, भाजपा के किसी मंत्री या नेता के खिलाफ भ्रष्टाचार का एक भी मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले पांच वर्षों के दौरान उत्कृष्ट प्रशासन प्रदान किया है। 

उन्होंने कहा कि मणिपुर एक छोटा सा राज्य है लेकिन इसकी गिनती देश के सबसे अमीर राज्यों में की जाती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा शुरू की गई योजनाएं किसानों सहित जनता तक पहुंची हैं। उन्होंने कहा कि वह चाहते ही भाजपा और इसके सहयोगी दल मणिपुर में विधानसभा की 60 सीटों में से 50 सीटें जीतें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी दिन-ब-दिन अपनी प्रतिष्ठा खोती जा रही है और भाजपा कांग्रेस को मुख्य प्रतिद्वंद्वी नहीं मानती है।