इंफाल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra) ने मंगलवार को कहा कि मणिपुर विधानसभा चुनाव (Manipur Assembly Elections) में यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण देंगी। लेकिन उनके वादों की हवा उनके ही पार्टी के द्वारा जारी उम्मीदवारों की लिस्ट ने निकाल दी है। 

कांग्रेसे अबतक तीन लिस्ट जारी की है। पहली लिस्ट में कांग्रेस ने 40 उम्मीदवारों को टिकट दिया। दूसरी लिस्ट में 10 उम्मीदवारों को टिकट दिया गया। वहीं तीसरी लिस्ट में 4 उम्मीदवारों को टिकट दिया गया। लेकिन इन तीनों लिस्ट को मिलाकर सिर्फ तीन महिलाओं को ही विधानसभा चुनाव में टिकट दिया गया है। 

राज्य में सिर्फ 9 महिला उम्मीदवारों को टिकट 

राज्य में पांच राजनीतिक दलों- भाजपा, कांग्रेस, एनपीपी, जद (यू) और शिवसेना ने अब तक अपने उम्मीदवारों की घोषणा की। इन दलों द्वारा घोषित कुल 181 उम्मीदवारों में से केवल नौ महिला उम्मीदवार (9 women candidate in manipur election) आगामी चुनाव में मैदान में हैं। भाजपा की सूची में एक मौजूदा विधायक सहित तीन महिला उम्मीदवार शामिल हैं, कांग्रेस ने तीन महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जबकि एनपीपी में दो महिला उम्मीदवार शामिल हैं जद (यू) ने सुपर पुलिस के नाम से फेमस राजनेता बने बृंदा को याइकुल से मैदान में उतारा है। शिवसेना ने अपनी आठ उम्मीदवारों की सूची में किसी भी महिला उम्मीदवार को शामिल नहीं किया है. महिला सशक्तिकरण के आंदोलन के बावजूद, मणिपुर में राजनीतिक परिदृश्य में यह देखा जाता है कि विधायिका में महिलाओं की हिस्सेदारी लगभग शून्य है।

बता दें कि मंगलवार को प्रियंका वाड्रा ने वर्चुअल चुनाव रैली को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन को मुफ्त करने के साथ ही, उनके लिए बनाए गए बाजारों की हालत में सुधार लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी को बेरोजगारी भत्ता और मुफ्त इलाज उपलब्ध कराने के लिए कानून लाएगी। कांग्रेस मध्यम वर्ग और छोटे स्तर के उद्योगों को मजबूत करने के लिए नौकरियां का सृजन करेगी। 

भाजपा पर निशाना साधते हुए वाड्रा ने कहा कि जहां भगवा पार्टी महिलाओं के साथ समान व्यवहार करने में विश्वास नहीं करती, वहीं कांग्रेस सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि महिलाएं अपने आपको सुरक्षित महसूस करें। इस अवसर पर मणिपुर कांग्रेस अध्यक्ष एन लोकेन, पूर्व मुख्यमंत्री ओ आईबोबी, पूर्व केंद्रीय मंत्री भक्त चरण दास राज्य से इस रैली में शामिल हुए। बता दें कि राज्य में दो चरणों में 28 फरवरी और 5 मार्च को वोटिंग होगी। चुनाव के नतीजे 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे