राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (NMC) ने मणिपुर में पहले निजी मेडिकल कॉलेज की स्थापना की अनुमति दी है। शिजा हॉस्पिटल्स एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (SHRI), इंफाल के प्रबंध निदेशक डॉ पॉलिन खुंडोंगबाम ने इस खबर की पुष्टि की है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मणिपुर के इंफाल पश्चिम जिले के स्वास्थ्य गांव लंगोल में शिजा एकेडमी ऑफ हेल्थ साइंसेज (SAHS) नाम का निजी मेडिकल कॉलेज स्थापित किया जाएगा।


मेडिकल कॉलेज को शिजा हॉस्पिटल्स एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (SHRI), इंफाल द्वारा प्रायोजित किया गया है। बताया गया है कि मणिपुर (Manipur) के पहले मेडिकल कॉलेज में प्रति वर्ष 150 छात्रों की प्रवेश क्षमता होगी। खुंदोंगबाम ने कहा कि सभी आवश्यक बुनियादी ढांचा तैयार कर लिया गया है और पहला शैक्षणिक सत्र (2021-2022) दिसंबर से शुरू होगा।
रिपोर्ट में डॉ खुंडोंगबाम  (Khundongbam) के हवाले से कहा गया है कि "नए मेडिकल कॉलेज की स्थापना का मुख्य उद्देश्य मजबूत, सहानुभूतिपूर्ण, दयालु, सामाजिक और पर्यावरणीय रूप से जिम्मेदार अनुसंधान-उन्मुख चिकित्सा स्नातक और स्नातकोत्तर का उत्पादन करना है ... राज्य के खजाने और क्षेत्र के समावेशी विकास के लिए।”

श्री इंफाल के प्रबंध निदेशक ने कहा कि मणिपुर में हर साल 4,000 से अधिक चिकित्सा उम्मीदवारों में से 150 छात्रों को सरकार द्वारा नामित किया जाता है। उन्होंने यह भी बताया कि 400 से अधिक छात्र मणिपुर के बाहर या विदेशों में मेडिकल कॉलेजों (medical college) में प्रवेश चाहते है। लेकिन भारत में केवल 440 मेडिकल कॉलेज हैं, जिनमें से केवल 3% पूर्वोत्तर में हैं।