कांग्रेस मणिपुर के लिए अपना घोषणापत्र (Congress manifesto) जारी कर दिया है। जिसमें उन्होंने 30 अन्य वादों के साथ अपने घोषणा पत्र में अधिनियम को निरस्त करने का वादा किया है। कांग्रेस ने पूर्वोत्तर राज्य में विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आने पर मणिपुर से विवादास्पद सशस्त्र बल (AFSPA) अधिनियम को रद्द करने का वादा किया है।

कांग्रेस घोषणापत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N. Biren Singh) ने कांग्रेस पार्टी के घोषणापत्र को 'अव्यावहारिक' करार दिया है। एन बीरेन सिंह ने कहा कि “एक घोषणापत्र व्यावहारिक होना चाहिए। यह केवल प्रचार नहीं होना चाहिए। झांसा देने का लोगों से कोई लेना-देना नहीं है ”।बीरेन सिंह (N. Biren Singh) ने यह बयान हिंगांग निर्वाचन क्षेत्र से आगामी मणिपुर विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के बाद दिया। उन्होंने आगे बताया कि मणिपुर में भाजपा आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अपना 'व्यावहारिक' घोषणापत्र "जल्द से जल्द" प्रकाशित करेगी।
सिंह ने कहा कि भाजपा जल्द से जल्द अपना घोषणापत्र (BJP manifesto) भी जारी करेगी। लेकिन हमारा घोषणा पत्र बहुत व्यावहारिक होगा, जिसे क्षेत्र में लागू किया जा सकता है, ”। मणिपुर में कांग्रेस ने राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र जारी किया है।