इंफाल। मणिपुर (Manipur) में शनिवार को असम राइफल्स (Assam Rifles) की टुकड़ी पर हुए आतंकी हमले की दो प्रतिबंधित उग्रवादी संगठनों ने जिम्मेदारी ली। हमले में एक कमांडर समेत पांच जवान शहीद हो गए और कमांडर के परिवार के दो सदस्यों की जान गई है।

पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और मणिपुर नागा पीपुल्स फ्रंट (MNPF) ने संयुक्त बयान में दावा किया है कि उन्होंने चुराचांदपुर जिला के सेहकन गांव में अर्धसैनिक बल पर हमले को अंजाम दिया। हमले में असम राइफल्स की खुगा बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी, उनकी पत्नी और आठ साल के बेटे के अलावा बल के चार जवान शहीद हो गए।

इस बीच असम राइफल्स मुख्यालय के डीजी ने शोक व्यक्त किया और लिखा, "13 नवम्बर को दिन के 11 बजे असम राइफल्स के एक काफिले पर थिंगघाट, मणिपुर में विद्रोहियों द्वारा घात लगाकर हमला किया गया था। 

46वीं असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी सहित पांच जवानों ने ड्यूटी के दौरान सर्वोच्च बलिदान दिया है। घटना में कमांडिंग ऑफिसर की पत्नी और बच्चे की भी जान चली गई। वह असम राइफल्स के सभी शहीद बहादुर सैनिकों और परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं।