टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकीं अनुभवी महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने पुणे के नेशनल कैंप में सात दिनों का अपना क्वारंटीन पूरा कर लिया है, लेकिन वह आइसोलेशन में अपनी ट्रेनिंग शुरू कर सकती हैं। एक कोच ने कहा, " उन्होंने शुक्रवार को अपना क्वारंटीन पूरा कर लिया है और वह अपने रूम के बाहर ट्रेनिंग कर सकती हैं। लेकिन ट्रेनिंग के दौरान सामाजिक दूरी को बनाए रखने के लिए उन्हें अलग से समय निकालना होगा। "

छह बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम टोक्यो ओलंपिक में महिलाओं की 51 किग्रा वर्ग में हिस्सा लेंगी। उनके अलावा सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) और पूजा रानी (75 किग्रा) अन्य तीन भारतीय महिला मुक्केबाज हैं, जो ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा करेंगी।

कोच ने कहा, " मैरी कॉम के साथ अलग से ट्रेनिंग के लिए आर्मी के दो पुरुष मुक्केबाजों का चयन किया गया है। दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है और उन्हें किसी दूसरे मुक्केबाजों के साथ ट्रेनिंग करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।" मैरी कॉम के निजी कोच छोटेलाल यादव छह मई को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और फिलहाज 15 दिन के क्वारंटीन में हैं।