पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता ओकराम इबोबी सिंह (Ibobi Singh) ने कहा कि मणिपुर की जनता अब सरकार (Manipur Assembly Elections) बदलने के लिए तैयार है, क्योंकि लोग मौजूदा सरकार से ऊब चुके हैं। उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) की राष्ट्रीय और राज्य दोनों स्तरों पर विभाजनकारी राजनीति के कारण वह 5 राज्यों में चल रहे चुनावों में मुंह की खाएगी। 

ये भी पढ़ें

प्रियंका वाड्रा का योगी सरकार पर हमला, लखीमपुर पीड़ितों का सुप्रीम कोर्ट पहुंचना सरकार के लिए शर्मनाक


उन्होंने (Ibobi Singh) कहा कि मेरा मानना है कि मणिपुर के लोग भाजपा से तंग आ चुके हैं। यह सिर्फ इतना है कि वे इसे खुलकर व्यक्त नहीं कर पाए हैं। भाजपा झूठ बोल रही है और खोखले वादे कर रही है। उन्होंने अपने किसी भी वादे को पूरा नहीं किया है। कांग्रेस के दिग्गज नेता ने कहा, हमें पांच राज्यों के चुनावों के बाद 2024 के आम चुनावों के परिणाम के के बारे में पता चल जाएगा। केंद्र और नागा विद्रोही समूह (Naga rebel group) के बीच 2015 में हस्ताक्षरित फ्रेमवर्क समझौते का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि इस सौदे का अंतिम परिणाम नहीं निकला है। सिंह ने कहा कि यह लोगों को अंधेरे में रखने का मामला है। इतना समय हो गया है कि समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे, लेकिन कोई नहीं जानता कि इसमें क्या है। न तो उन्होंने जनता के साथ साझा किया है और न ही उन्होंने बातचीत पूरी की है।

ये भी पढ़ें

श्रीलंका के खिलाफ आगामी टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज से बाहर हो गए टीम इंडिया के ये दो दिग्गज


यह पूछे जाने पर कि आगामी राज्य विधानसभा चुनाव (Manipur Assembly Elections) के बाद कांग्रेस सत्ता में वापस आने के लिए कितनी आश्वस्त है, सिंह ने कहा, हमने कुल (53) उम्मीदवारों को खड़ा किया है, हम हर एक की क्षमता को जानते हैं और हम दृढ़ता से विश्वास करते हैं उनमें से 40-45 जीतेंगे। हालांकि, उन्होंने कहा कि अगर हम बहुमत से पिछड़ते हैं तो समान विचारधारा वाले दलों के साथ चुनाव के बाद गठबंधन होगा। कांग्रेस पहले ही भाकपा, माकपा, फॉरवर्ड ब्लॉक, आरएसपी और जद (एस) के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा कर चुकी है। मणिपुर में 60 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 40 से अधिक सीटों पर जीत के दावे को खारिज करते हुए तीन बार के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह संभव नहीं है।