मणिपुर वाहन चोर गिरोह के बदमाशों अबंग मेहताब, कबीर अहमद, मोहम्मद असकर और अरिबम गुनानांडा को चार दिन की रिमांड पूरी होने पर क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 पुलिस ने अदालत में पेश किया। अदालत ने सभी को जेल भेज दिया है। चार दिन की रिमांड के दौरान पुलिस आरोपितों से कुछ खास हासिल नहीं कर पाई।

बता दें कि आरोपित अबंग मेहताब और उसके साथी कबीर अहमद 10 सितंबर को क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 पुलिस के हत्थे चढ़े थे। पुलिस के मुताबिक मणिपुर से संचालित होने वाले संगठित कार चोर गिरोह के लिए वे चोरी की कारें दिल्ली से लेकर जाते थे। कबीर अहमद आइपीएस की वर्दी पहनकर कार में बैठता था। उसने राष्ट्रीय जांच एजेंसी के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त का फर्जी पहचान पत्र भी बनवाया हुआ था। 

दोनों को आठ दिन की रिमांड पर लेकर पुलिस मणिपुर गई और वहां चोरी की कारें रिसीव करने वाले मोहम्मद असकर और अरिबम गुनानांडा को गिरफ्तार किया। इसी दौरान कबीर अहमद के दिल्ली के ठिकाने से नशे की प्रतिबंधित गोलियां भी बरामद कीं। इसके बाद सभी को चार दिन की रिमांड पर लिया था। इस दौरान चोरी की एक भी कार पुलिस बरामद नहीं कर पाई। हालांकि पुलिस का कहना है कि इस गिरोह के बारे में काफी जानकारी हासिल हो गई है। अगली बार ऑपरेशन के दौरान यह जानकारी काफी काम आएगी।