मणिपुर की मिक्स्ड मार्शल आर्ट (MMA) फाइटर सुरबाला लैशराम देवी ने ग्लोबल एसोसिएशन ऑफ मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स (GAMMA) वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीता है। सुरबाला लैशराम देवी GAMMA वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय फाइटर बन गई हैं। GAMMA विश्व चैंपियनशिप नीदरलैंड के एम्स्टर्डम में आयोजित की गई थी। सुरबाला लैशराम देवी मणिपुर के थौबल जिले के खंगाबोक सोरोक वांगमा की रहने वाली हैं।

 

21 वर्षीय सुरबाला लैशराम देवी ने फाइनल में कजाकिस्तान की तोमिरिस झुसुपोवा को हराकर इतिहास रच दिया। सुरबाला लैशराम देवी एक पूर्व जूनियर किकबॉक्सिंग विश्व चैंपियन और जिउ-जित्सु एशियाई ओपन स्वर्ण पदक विजेता हैं। कुल मिलाकर 33 खिलाड़ियों ने 23 से 27 मार्च तक आयोजित पांच दिवसीय मिक्स मार्शल आर्ट विश्व चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व किया। वर्ल्ड चैंपियनशिप में टीम इंडिया ने 11 मेडल जीते।

ये भी पढ़ेंः मणिपुर शिवसेना ने केंद्र सरकार पर SAPO के अनिश्चितकालीन बंद की अनदेखी करने का लगाया आरोप


वहीं दूसरी तरफ मिजोरम विश्वविद्यालय के एकमात्र प्रतिनिधि लालथलामुआनपुइया ने 21 से 24 मार्च तक केरल में आयोजित अखिल भारतीय अंतर-विश्वविद्यालय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल पदक जीता था। लालथलामुआनपुइया ने अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय ताइक्वांडो (पुरुष) चैम्पियनशिप 2021-2022 में अंडर 58 वर्ग में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है। जानकारी दे दें कि लालथलामुआनपुइया इससे पहले नेपाल में आयोजित 13वें दक्षिण एशियाई खेलों 2019 में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। उन्होंने एशियाई खेलों के आमंत्रण टूर्नामेंट में कांस्य पदक भी जीता है और 2017 की एशियाई चैम्पियनशिप जैसे कई अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में देश का प्रतिनिधित्व किया है और 14वीं के दौरान पटियाला, पंजाब में आयोजित पिछली अखिल भारतीय इंटर यूनिवर्सिटी ताइक्वांडो चैंपियनशिप में भी रजत पदक हासिल किया है।