इंफाल। मणिपुर के कपड़ा, वाणिज्य और उद्योग मंत्री नेमचा किपजेन ने कहा कि मंत्रिमंडल द्वारा अनुमोदित मणिपुर एकीकृत रसद नीति, 2022 यहां की रसद बुनियादी इंतजामों को बेहतर बनाएगी। मंत्री ने सोमवार को सीमावर्ती शहर मोरेह में स्थित इंटीग्रेटेड चेक प्वाइंट (आईसीपी) का दौरा किया और भारतीय भूमि बंदरगाह प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बातचीत की। 

यह भी पढ़े : Horoscope May 10 : आज इन राशि वालों पर रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा , इन राशियों के लोग बहुत बचकर पार करें समय

नेमचा ने मोरेह में आईसीपी के बुनियादी ढांचे के उचित रखरखाव का आह्वान किया क्योंकि इससे न केवल भारत के गेटवे टू ईस्ट को रणनीतिक लाभ मिलेगा, बल्कि यह भारत, म्यांमार और अन्य दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के बीच व्यापार के लिए एकमात्र व्यवहार्य भूमि मार्ग भी है। 

यह भी पढ़े : Weekly Horoscope 9-15 May: ये सप्ताह इन राशि वालों के लिए बेहद शुभ रहेगा, कन्या और कुंभ राशि में धन प्राप्ति के योग

उन्होंने आईसीपी और केंद्र एवं राज्य सरकार की अन्य विकासात्मक गतिविधियों/परियोजनाओं के उचित रखरखाव के लिए स्थानीय नागरिक समाजों और ग्रामीणों से भी सहयोग की मांग की। इस दौरान मंत्री ने तेंगनौपाल जिले में औद्योगिक एस्टेट के लिए जगह के साथ-साथ मोरेह में व्यापार केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने सीमावर्ती शहर के रास्ते काकचिंग जिले के कुराओपोकपी औद्योगिक एस्टेट का भी निरीक्षण किया।