मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में मछली आयात में कमी के कारण राज्य ने 100 करोड़ रुपये से अधिक की बचत की है। सीएम बीरेन सिंह ने कहा कि  "मणिपुर का मछली आयात 20 मीट्रिक टन से घटकर 14 मीट्रिक टन हो गया है।" बीरेन सिंह ने कहा कि मणिपुर की मछली उत्पादन क्षमता बढ़कर 36,000 मीट्रिक टन प्रति वर्ष हो गई है जिसके परिणामस्वरूप आयात कम हो गया है।



खपत के लिए मणिपुर की मछली की आवश्यकता लगभग 52,000 मीट्रिक टन है। मणिपुर के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार राज्य में मछली के उत्पादन को और बढ़ावा देने के लिए मछली किसानों के साथ मिलकर काम कर रही है। सीएम बीरेन सिंह ने कहा कि मणिपुर सरकार ने सारेंग (फ्रेशवाटर कैटफ़िश) के उत्पादन के लिए उपाय करना शुरू कर दिया है। मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने कहा कि "इससे आयातित सारेंग की मांग कम हो जाएगी।"