मणिपुर में एक 10 वर्षीय लड़की, जिसकी गोद में नवजात बहन के साथ स्कूल जाने की तस्वीर पिछले महीने वायरल हुई थी। उसने इम्फाल के एक बोर्डिंग स्कूल में प्रवेश प्राप्त कर लिया है। मणिपुर सरकार के बिजली, वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन, कृषि, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री बिस्वजीत थोंगम ने ट्विटर पर खबर साझा की।

ये भी पढ़ेंः पूर्वोत्तर क्षेत्रीय खेल सप्ताह में मणिपुर ने मारी बाजी, असम-नागालैंड दूसरे और तीसरे स्थान पर


उन्होंने लिखा कि मेनिंग्सिनलिउ पमेई को उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं देने के लिए मेरे साथ जुड़ें! जैसा कि वादा किया गया था मैंने इंफाल के स्लोपलैंड पब्लिक स्कूल में उसकी बोर्डिंग स्कूली शिक्षा की व्यवस्था की है। वहीं यूजर्स ने इस काम के लिए मंत्री को धन्यवाद दिया। एक यूजर ने कमेंट किया, ग्रेट जॉब माननीय मंत्री महोदय।

ये भी पढ़ेंः पुलिस हिरासत में एक व्यक्ति की मौत के बाद थानेदार निलंबित, मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी का आश्वासन


पमेई की मणिपुर के तामेंगलोंग जिले के एक प्राथमिक स्कूल में पढ़ते हुई फोटो वायरल हुई थी। पमेई की गोद में 2 साल की बच्ची थी। जब फोटो वायरल हुई, तो मंत्री ने इस पर ध्यान दिया और उन्होंने अधिकारियों से लड़की के परिवार का पता लगाने और उन्हें इंफाल लाने के लिए कहा। सिंह ने वादा किया था कि जब तक वह स्नातक नहीं हो जाती, वह व्यक्तिगत रूप से उनकी शिक्षा का ध्यान रखेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें उनसे समर्पण पर गर्व है।