मणिपुर की हिंगांग विधानसभा सीट (Heingang Assembly Seat) राज्य की 60 विधानसभा सीटों में से एक है। यह सीट इंफाल जिले में पड़ती है और इनर मणिपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आती है। इस बार इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने एन। बीरेन सिंह को टिकट दिया है। उन्होंने 2017 के विधानसभा चुनाव में इस सीट से भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए थे। सिर्फ 2017 ही नहीं वे इस सीट से लगातार 4 बार (2002) से जीतते आ रहे हैं। वह मणिपुर के मुख्यमंत्री भी हैं।

साल 2000 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट (Heingang Assembly Seat) से फेडरल पार्टी ऑफ मणिपुर के उम्मीदवार डॉ। वकामबम तोहिबा विधायक चुने गए थे। उन्होंने मणिपुर स्टेट कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार यांगलेम मांगी सिंह को हराया था।

2002 के विधानसभा चुनाव में डेमोक्रेटिक रिवॉल्यूशनरी पीपल्स पार्टी के उम्मीदवार नोंग्थोमबम बीरेन सिंह विधायक चुने गए थे। उन्होंने मणिपुर स्टेट कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार यांगलेम मांगी सिंह को हराया था। वहीं 2007 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार वीरेन सिंह विधायक चुने गए। उन्होंने मणिपुर पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार मुथुम बबीता को हराया था।

2012 के विधानसभा चुनाव में बीरेन सिंह दूसरी बार इस सीट (Heingang Assembly Seat) से कांग्रेस के विधायक चुने गए। उन्होंने एनसीपी के उम्मीदवार एन। रतन को हराया था। इस चुनाव में बीरेन सिंह को 11,872 वोट मिला था, जबकि एनसीपी के एन. रतन को 9,790 वोट मिला था। 

2017 के विधानसभा चुनाव में एन बीरेन सिंह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा और चौथी बार लगातार इस सीट (Heingang Assembly Seat) से विधायक चुने गए। उन्होंने ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार पी. शरत चंद्र सिंह को शिकस्त दी थी। इस चुनाव में सिंह को 10,349 वोट, जबकि तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार शरत चंद्र सिंह को 9,233 वोट मिले थे। तीसरे नंबर पर कांग्रेस उम्मीदवार एन. रतन मीती थे, जिन्हें 7,329 वोट मिला था।