इंफाल। मणिपुर में पहले चरण के मतदान में सोमवार को राज्यपाल ला गणेशन (Governor La Ganesan), मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (Chief Minister N Biren Singh), उप मुख्यमंत्री वाई जॉयकुमार, विधानसभा अध्यक्ष वाई खेमचंद, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एन लोकेन सहित अन्य ने अपने-अपने मतदान केंद्रों पर मतदान किया। राज्यपाल ने सभी से हिंसा से दूर रहने और स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराने की अपील की। 

यह भी पढ़ें- इस बार महाशिवरात्रि पर बन रहा अद्भुत संयोग, ये है शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने भी लोगों से मतदान करने की अपील की। मुख्यमंत्री ने भी लोगों ने बढ़ चढ़कर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की अपील की। इम्फाल पूर्व के कांगपोकपी में मतदान के दौरान हिंसा की सूचना मिलने के बाद अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजा गया। हालांकि अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। 

चुनाव आयोग के अनुसार, राज्य में पहले दो घंटे में 10 प्रतिशत से अधिक मतदान होने की सूचना मिली थी। मतदान केंद्रों पर लोगों की लंबी कतारें दिखी हालांकि मतदान प्रक्रिया धीमी रही। मतदाताओं ने कहा कि उनके पहचान पत्र से मतदाताओं की पहचान करने और मतदाता पर्ची जारी करने में अधिक समय लग रहा है। मौसम काफी सुहावना बना हुआ है। 

यह भी पढ़ें- मणिपुर वोटिंग में मचा बवाल, पोलिंग के दौरान ही भिड़े कांग्रेस-BJP समर्थक, हुई फायरिंग

किया जीत का दावा

मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण में मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने इंफाल में मतदान किया। मणिपुर चुनाव के पहले चरण में 38 में से 30 सीट जीतने का दावा किया है। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने कहा, 'मुझे उम्मीद है कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र के 75% लोग भाजपा और मुझे वोट देंगे। भाजपा पहले चरण में 38 में से कम से कम 30 सीटों की उम्मीद कर रही है।