इंफाल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पूछताछ के विरोध में मणिपुर में पार्टी कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को राजभवन के सामने प्रदर्शन किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मेघचंद्र के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता राजभवन के सामने एकत्र हुए और प्रदर्शन किया। 

ये भी पढ़ेंः डॉ माणिक साहा न केवल एक कार्यवाहक मुख्यमंत्री बल्कि 2023 में भाजपा का मुख्यमंत्री चेहरा


इस मौके पर मेघचंद्र ने कहा कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी सहित विपक्षी नेताओं को ईडी के जरिए परेशान करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने जोर दिया कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए सरकारी तंत्र (मशीनरी) के दुरुपयोग के खिलाफ है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार झूठे आरोप लगाकर विपक्षी नेताओं को बदनाम करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा, 'हमें भारतीय संविधान की रक्षा करनी चाहिए और ईडी जैसी सरकारी एजेंसियों को राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल करने का विरोध करना चाहिए। कांग्रेस भाजपा की कार्रवाई की निंदा करती है।'

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा उपचुनाव: अभिषेक बनर्जी बोले - 'बीजेपी एक वायरस है और टीएमसी वैक्सीन है'

इससे पहले कांग्रेस कार्यालय से राजभवन की ओर रैली की शक्ल में आगे बढ़ते पार्टी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोक लिया, लेकिन उनमें से कई राजभवन के मुख्य द्वार तक पहुंचने में सफल रहे, जहां उनकी पुलिस के साथ झड़प हुई। पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे भी लगाए।