देश के पांच राज्यों में चुनाव हो रहे हैं जिनमें Manipur विधानसभा चुनाव भी शामिल है। Manipur Assembly Election 2022 की तरीखें घोषित हो चुकी हैं। इनके तहत पहले चरण के लिए 28 फरवरी को मतदान होगा। जबकि दूसरे चरण के लिए मतदान 5 मार्च को होगा।



मणिपुर में 60 विधानसभा सीटें हैं। जिनके चुनाव का परिणाम 10 मार्च को घोषित किया जाएगा। आपको बता दें कि साल 2017 में मणिपुर में 4 मार्च और 8 मार्च को चुनाव संपन्न हुए थे।



मणिपुर विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च 2022 को खत्म हो रहा है। ऐसे में इससे पहले राज्य में सरकार गठन करना होगा। आपको बता दें कि साल 2017 में मणिपुर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 28 सीटें जीती थी। वहीं, बीजेपी को 21 सीटें मिली थी। इनके अलावा नेशनल पीपल्स पार्टी और नगा पीपल्स फ्रंट को 4-4 और एलजेपी, टीएमसी ने 1-1 सीटें जीती थी। लेकिन कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार नहीं बना सकी। क्योंकि भाजपा ने बाजी मार ली।

मणिपुर विधानसभा चुनावों के तहत राज्य सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 31 सीटों का है। इसी में भाजपा ने खेल करते हुए एनपीपी, एलजेपी और निर्दलीय विधायकों का समर्थन लेकर सरकार बनाई। इसमें सबसे प्रमुख भूमिका राज्य के मुख्यमंत्री एन बीरेंद्र सिंह की रही और जोड़ तोड़ करके भाजपा के नेतृत्व में सरकार बनाई। एक बार फिर मणिपुर में कांग्रेस और बीजेपी मुख्य प्रतिद्वंद्वी पार्टियां हैं और एन बीरेन सिंह अपना पूरा दम फिर से भाजपा की सरकार बनाने में लगा रहे हैं।



लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि एक राजनेता के साथ ही  Nongthombam Biren Singh एक फुटबॉलर और पत्रकार भी रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि राज्य में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए N. Biren Singh को 2018 में Champions of Change अवॉर्ड से सम्मानित भी किया जा चुका है। यह अवॉर्ड उनको देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिया गया था।