मणिपुर भाजपा ने अपने मुख्य प्रवक्ता चोंगथम बिजॉय को निष्कासित कर दिया। बता दें कि उन्होंने नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को एक परजीवी कहा था, जो कि सत्तारुढ़ गठबंधन के लिए खतरा है। उरीपोक से आगामी विधानसभा चुनाव लडऩे की इच्छा रखने वाले बिजॉय ने 6 फरवरी को एक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी एल रघुमणि को टिकट दिए जाने के बाद कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने आरोप लगाया कि रघुमणि को भ्रष्ट होने के बावजूद टिकट मिला। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ए शारदा देवी के एक बयान के अनुसार, बिजॉय को पार्टी के नियमों और विनियमों के उल्लंघन के लिए प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया था। भाजपा के एक सूत्र ने कहा कि बिजॉय पार्टी लाइन की पूरी तरह से अवहेलना करते हुए अपनी राय रख रहे थे।

हालांकि इस मुद्दे पर अभी तक मणिपुर भाजपा अध्यक्ष ने कोई बयान जारी नहीं किया है। वहीं बिजॉय ने कहा कि निष्कासन उनके लिए एक बड़ी राहत थी। मैं हमेशा भ्रष्टाचार और वंशवादी राजनीति के खिलाफ मुखर रहा हूं। दुर्भाग्य से मैं ऐसे लोगों से घिरा हुआ था, जिनका हित मेरे सिद्धांतों के विरुद्ध है। यह बहुत राहत की बात है कि अब मुझे इसका बचाव नहीं करना है।