इंफाल। 10 साल के एक मासूम बच्चे ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिसको लेकर हर कोई हैरान है। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि एक बच्चे ने 1700 किलोमीटर की यात्रा साइकिल से की है। आज जब यह बच्चा आरव इतनी लंबी यात्रा करते हुए यूपी के शाहजहांपुर पहुंचा है। यहां उसका गर्मजोशी से स्वागत किया गया।

यह भी पढ़ें : भारतीय मुक्केबाजों के लिए मिला-जुला ड्रॉ, पहले दिन लवलीना ने की अभियान की शुरूआत

महज 10 साल का आरव राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रीय एकता का संदेश लेकर मणिपुर से दिल्ली के लिए साइकिल यात्रा पर निकला है। आरव का कहना है कि उसके मन में शहीदों के प्रति बेहद सम्मान है और वह नेताजी सुभाष चंद्र बोस के देशप्रेम से प्रेरित है। उन्हीं से प्रेरणा लेकर 2600 किलोमीटर का सफर साइकिल से तय करने का फैसला किया है।

आरव भारद्वाज के पिता एक डॉक्टर हैं और उन्होंने बताया कि उनका बेटा सुभाष चंद्र बोस से बेहद प्रभावित है। आरव ने अपने पिता से मणिपुर के सुभाष चंद्र मेमोरियल से दिल्ली तक साइकिल यात्रा करने की इच्छा जाहिर की थी। इसके बाद आरव ने 14 अप्रैल को मणिपुर से साइकिल यात्रा शुरू की और लगभग 1700 किलोमीटर की यात्रा पूरी करने के बाद मंगलवार को वह शाहजहांपुर पहुंचा।    

यह भी पढ़ें : HNLC peace talks : मेघालय के डिप्टी सीएम ने कहा - सरकार वार्ताकार से इनपुट की प्रतीक्षा कर रही है

शाहजहांपुर में 10 साल के आरव का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। आरव का कहना है कि मणिपुर से शुरू की गई साइकिल यात्रा नई दिल्ली के नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेमोरियल पर पहुंचकर समाप्त होगी। इस दौरान 10 साल के बच्चे ने दूसरे बच्चों को इस मिशन में शामिल होने की अपील की, ताकि भविष्य में देश को अच्छे खिलाड़ी मिल सकें। बता दें कि आरव के साथ उसके पिता और दादा जी भी सफर कर रहे हैं।