कुकी नेशनल ऑर्गनाइजेशन (KNO) ने मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (CM Biren Singh) और विधायक उम्मीदवार 46-सैकुल (एसटी) एसी, यमथोंग हाओकिप (Yamthong Haokip’s) के आरोप कि समूहों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को धमकी दी है का जवाब देते हुए स्पष्ट किया कि संगठन और यूपीएफ, दो छाता संगठन, उन्होंने न तो किसी पार्टी कार्यकर्ता को धमकी दी है और न ही किसी उम्मीदवार पर 12वीं मणिपुर विधानसभा चुनाव (Manipur Assembly Elections) के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का दबाव बनाया है।

केएनओ के शुक्रवार के बयान में एन बीरेन के दावे का खंडन किया और कहा कि एसओओ समूह जमीनी नियमों का पालन कर रहे हैं। 'माननीय सीएम और यमथोंग हाओकिप के आरोपों से मेल खाने वाले सबूतों के साथ किसी भी अप्रिय घटना को केएनओ और यूनाइटेड पीपुल्स फ्रंट के संज्ञान में लाया जा सकता है। बिना किसी धमकी के आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।'

इसमें आगे संगठने ने कहा कि, '10 फरवरी को पु तोंगमांग हाओकिप (आईआरएस सेवानिवृत्त) के अध्यक्ष कुकी पीपुल्स एलायंस द्वारा अपने उम्मीदवार किमनेओ हाओकिप हैंगशिंग के लिए एक लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण झंडा फहराया गया, जो सैकुल बाजार में हुआ। इसके साथ ही, सैकुल बाजार से बमुश्किल दो किलोमीटर की दूरी पर एकौ मुलम गांव में एक समान रूप से लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण झंडा फहराने का कार्यक्रम हुआ, जहां माननीय मुख्यमंत्री ने उम्मीदवार यमथोंग हाओकिप के लिए भाजपा का झंडा फहराया।