यूपी और मणिपुर में भाजपा की अपनी ही सहयोगी पार्टी से टक्कर होने वाली है। जी हां, बिहार में बीजेपी के साथ सरकार चला रही जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा है कि उनकी पार्टी की प्रमुखता उत्तर प्रदेश और मणिपुर विधानसभा चुनावों में बीजेपी के साथ गठबंधन कर के लड़ना है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अगर गठबंधन नहीं हो पाता है तो जेडीयू इन राज्यों में अकेले चुनाव लड़ेगी।

केसी त्यागी ने कहा, 'जेडीयू उत्तर प्रदेश और मणिपुर चुनाव लड़ेगी। हमारी पहली प्रमुखता बीजेपी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने की होगी। अगर कोई गठबंधन नहीं हुआ तो हम अकेले चुनाव लड़ेंगे।'

बता दें कि जेडीयू ने साल 2017 में हुआ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा था। अगले साल उत्तर प्रदेश और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

त्यागी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पार्टी के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी सांसद राजीव रंजन सिंह ने एक दिन पहले ही यह स्पष्ट कर दिया था कि उनकी पार्टी बिना गठबंधन पर निर्भर रहे अकेले चुनाव लड़ने में सक्षम है।

बता दें कि जेडीयू बिहार में बीजेपी की सहयोगी है और पार्टी नेता आरसीपी सिंह को हाल ही में हुए पीएम मोदी के मंत्रिपरिषद विस्तार में शामिल किया गया था।