इंफाल। मणिपुर के जिरीबाम जिले (Jiribam district of Manipur) में चुनाव के बाद हिंसा (Violence after the election) को रोकने के लिए ऐहतियात के तौर पर इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को पांच दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। राज्य के विशेष सचिव (गृह) एच ज्ञान प्रकाश ने सरकारी आदेश में कहा है कि जिरीबाम जिले में संपत्ति के नुकसान सहित हिंसक घटनाओं की एक श्रृंखला को अंजाम दिया गया। 

यह भी पढ़ें- BJP के चुनाव जीतने पर मुन्नवर राना ने छोड़ दिया यूपी, जानिए अब कहां गए

इससे जीवन के नुकसान या सार्वजनिक/निजी संपत्ति को नुकसान और सार्वजनिक शांति एवं सांप्रदायिक सछ्वाव के लिए व्यापक प्रसार गड़बड़ी का एक आसन्न खतरा है, जिसके परिणामस्वरूप भड़काऊ सामग्री और झूठी अफवाहें, जो मोबाइल सेवाओं, एसएमएस सेवाओं और डोंगल सेवाओं पर सोशल मीडिया/मैसेजिंग सेवाओं के माध्यम से जनता को प्रसारित की जा सकती है।' 

यह भी पढ़ें- शेन वॉर्न की मौत के बाद बड़ा खुलासा! काउंसलर ने खोले कई ऐसे राज

आदेश में कहा गया है कि शांति और सांप्रदायिक सछ्वाव बनाए रखने और सार्वजनिक/निजी संपत्ति को होने वाले नुकसान या खतरे को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का निर्णय लिया गया है। वहीं सभी इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को आदेश का पालन करने को कहा गया है। जिरीबाम जिले में 10 मार्च को राज्य विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद जनता दल (यूनाइटेड) और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की सूचना मिली थी। जद (यू) के अचबुद्दीन ने अपने निकटतम भाजपा उम्मीदवार बुद्धचंद्र को 416 वोटों से हराकर जिरीबाम सीट जीती थी।