मणिपुर सरकार की 'ड्रग्स के खिलाफ युद्ध' अभियान को बड़ी सफलता मिली है। दरअसल टेंग्नौपाल और चंदेल जिलों ने इस पहल को अपना समर्थन देने की घोषणा की। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने कहा कि पिछले 2 महीनों में 146 लोगों को गिरफ्तार किया गया। हम नशा मुक्त मणिपुर बनाने में सफल होंगे। 

ये भी पढ़ेंः इस छोटे से राज्य ने कोरोना को हराया, हुआ कोविड मुक्त


मीडिया से बात करते हुए सीएम बीरेन सिंह ने नागा जनजाति की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि बिना जनता के समर्थन, सरकार कुछ नहीं कर सकती है। रिपोर्टों के अनुसार सीएम ने यह भी बताया कि लगभग 70% पर्वतीय लोगों ने नशीले पदार्थों को खत्म करने के आंदोलन का पुरजोर समर्थन किया है। 5 मई को सीएम बीरेन सिंह ने कहा था कि उनके राज्य के कुछ विद्रोही समूह अफीम की खेती में शामिल हैं।

ये भी पढ़ेंः 31 करोड़ रुपये की ड्रग्स तस्करी के मामले में एक हेड कांस्टेबल सहित दो अन्य को भेजा न्यायिक हिरासत


मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने कहा, जब से नई सरकार बनी है ड्रग्स 2.0 अभियान बेहद सफल रहा है। मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने कहा, हमने अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगभग 182.3 करोड़ रुपये की विभिन्न प्रकार की दवाएं जब्त की हैं। इसके अलावा 20 अप्रैल के बाद से मणिपुर में 380 एकड़ अफीम की खेती नष्ट की गई है। मणिपुर के मुख्यमंत्री ने अवैध नशीले पदार्थों के व्यापार और अफीम की खेती के खिलाफ खड़े होने के लिए राज्य के लोगों की सराहना की। मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने कहा, आज हमें राज्य में रहने वाले लगभग सभी समुदायों का समर्थन और सहयोग मिल रहा है।