यूपी विधानसभा चुनाव और मणिपुर विधानसभा चुनाव को लेकर रविवार को जदयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में मुहर लगी कि पार्टी दोनों जगह चुनाव लड़ेगी। पार्टी वहां राजग (NDA) गठबंधन के साथ चुनावी मैदान पर उतरेगी या नहीं, इसको लेकर मंगलवार को मुंगेर पहुंचे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि दोनों राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी ने तैयारी कर रही है।

मुंगेर सांसद ललन सिंह से कहा कि चुनाव से पहले गठबंधन से बात की जाएगी, दोनों राज्यों में चुनाव लड़ने में जदयू को सीटों की हिस्सेदारी मिलती है तो ठीक है, नहीं तो जदयू पूरी ताकत के साथ दोनों जगहों पर चुनाव लड़ेगी। सांसद मंगलवार को मुंगेर लोकसभा क्षेत्र के बरियापुर प्रखंड के बाढ़ प्रभावित इलाकों में पीडि़तों से मिलने पहुंचे थे। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि जदयू गठबंधन के साथ है। सीट शेयरिंग में जदयू की बात को गंभीरता से सुना गया तो राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के साथ ही चुनाव लड़ा जाएगा। दोनों जगहों पर सीटों की हिस्सेदारी नहीं बनने पर जदयू अकेला मजूबती से मैदान में होगा।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार पूरी तरह बदल गया है। हर क्षेत्र में विकास का काम हुआ है। सामाजिक क्षेत्र में जो बदलाव हुए हैं वह हर राज्य की जनता देख रही है। दोनों राज्यों में जदयू ने चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। वहां के जदयू के पदाधिकारी से लेकर कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी में है। पूरे देश के लोग नीतीश कुमार को पसंद करते हैं। सांसद ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को हर तरह की सहायता मिलेगी। मकान क्षति, फसल नुकसान से लेकर छह-छह हजार रुपये दिए जाएंगे।

गौरतलब हो कि बिहार में एनडीए गठबंधन के तहत बीजेपी-जदयू-हम और वीआईपी चार दल हैं। सत्तारूढ़ इन दलों में वीआईपी के मुकेश सहनी ने ऐलान कर दिया है कि वे उत्तर प्रदेश में 150 से ज्यादा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे। ऐसे में जदयू ने अभी सीटों का ऐलान तो नहीं किया है लेकिन ये स्पष्ट जरूर कर दिया है कि पार्टी मजबूती के साथ उत्तर प्रदेश और मणिपुर में उतरेगी। गौरतलब हो कि झारखंड समेत कई राज्यों में हुए चुनावों में जदयू पहले भी चुनाव लड़ चुकी है।