असम राइफल्स और मणिपुर पुलिस ने एक संयुक्त अभियान में भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद जब्त किया है, जिसकी म्यांमार से तस्करी होने की आशंका है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। 

असम राइफल्स के सूत्रों ने कहा कि खुफिया सूचनाओं पर कार्रवाई करते हुए अर्धसैनिक बलों के जवानों ने मणिपुर पुलिस के साथ सीमावर्ती शहर तेंगनौपाल जिले के सीमावर्ती शहर मोरेह में एक घर में रखे हुए हथियार और गोला-बारूद जखीरा बरामद किया। जब्त किए गए हथियारों और गोला-बारूद में दो एम-16 राइफल, दो एके -56 राइफल, दो 9 एमएम पिस्तौल, एक चीनी हथगोला, विभिन्न गोला-बारूद का एक बड़ा जखीरा और असॉल्ट राइफलों की नौ मैगजीन, पिस्तौल की तीन मैगजीन और अन्य हथियार शामिल हैं।

बरामद हथियार, गोला-बारूद और हथियारों को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए मोरेह पुलिस थाने को सौंप दिया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कोई गिरफ्तारी नहीं हुई क्योंकि तलाशी अभियान के दौरान घर में कोई नहीं मिला। पूर्वोत्तर में उग्रवादी संगठनों की ओर से अत्याधुनिक हथियारों की भारी मांग है। लगभग हर रोज, असम राइफल्स, सीमा सुरक्षा बल और विभिन्न पूर्वोत्तर राज्यों की राज्य पुलिस भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और कई तरह के नशे की लत उत्तेजक दवाओं को जब्त कर रही है, जिनकी ज्यादातर तस्करी म्यांमार से की जाती है।

बीएसएफ और असम राइफल्स के अधिकारियों ने कहा कि विदेशी जानवरों और सरीसृपों सहित ड्रग्स और कई अन्य प्रतिबंधित पदार्थों की तस्करी अक्सर म्यांमार से की जाती है, जो चार पूर्वोत्तर राज्यों - मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और नागालैंड के साथ 1,643 किलोमीटर की सीमा साझा करता है। विभिन्न भारतीय राज्यों के अलावा बांग्लादेश और अन्य देशों में बड़ी मात्रा में ड्रग्स की तस्करी की जाती है।