पश्चिम बंगाल के एएमआरआई अस्पताल ने कहा कि मणिपुर और त्रिपुरा की सरकार ने अपने स्वास्थ्य कर्मचारियों से पूछा है जो कोविड-19 के प्रकोप के बीच अपने मूल राज्यों में लौटने के लिए अस्पताल में काम कर रहे हैं, वो घर लौटना चाहते हैं या नहीं। इस बात से एएमआरआई हॉस्पिटल्स में काफी हड़कंप मच गया है।


हॉस्पिटल के सीईओ रूपक बरुआ ने कहा कि वे नॉर्थ-ईस्ट राज्यों से संबंधित डॉक्टरों पर काफी निर्भर हैं ऐसे हालातों में इनका हॉस्पिटल छोड़ देना एक बड़ी चुनौती को पैदा कर सकता है। और अगर वे घर लौट आए तो यहां का मेडिकल स्टाफ कम होगा और काम को नहीं संभाल पाएगा।


बरुआ ने गुजारिश करते हुए कहा कि उत्तर-पूर्व की सरकारों, विशेष रूप से मणिपुर और त्रिपुरा की सरकारों ने विभिन्न राज्यों में काम कर रहे अपने स्वास्थ्य कर्मचारियों को COVID -19 लॉकडाउन के बीच अपने मूल राज्यों में लौटने के लिए कहा है। यह एक बड़ी समस्या है क्योंकि हम उन पर काफी निर्भर हैं।