कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है।    केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने मणिपुर, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात में उच्च स्तर की केंद्रीय टीमों को कोविड-19 के प्रसार को रोकने में स्थानीय प्रशासन की सहायता के लिए प्रतिनियुक्त किया गया है। ये राज्य वर्तमान में कोविड-19 मामलों में एक खतरनाक स्पाइक देख रहे हैं। मणिपुर के शेयरों में भारत के कुल 44,3303 सक्रिय मामलों में से 0.64 प्रतिशत, हरियाणा में 4.41 प्रतिशत शेयर हैं।


बता दें कि राजस्थान और गुजरात में देश के कुल सक्रिय मामलों में 4.39 प्रतिशत 2.81 प्रतिशत है। इसी तरह से सकारात्मकता दर मणिपुर में 6.36 प्रतिशत, हरियाणा में 6.81 प्रतिशत, गुजरात में 3.09 प्रतिशत और राजस्थान में 6.26 प्रतिशत बताई जा रही है। जिन स्वास्थ्य टीमों का गठन किया गया है वह जिलों का दौरा करेंगी। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 मामलों की उच्च संख्या की रिपोर्टिंग, निगरानी,  संक्रमण की रोकथाम के लिए यह टीम काम करेगी।


सूत्रों ने बताया कि देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए केंद्रीय दल समय पर निदान और पालन करने से संबंधित चुनौतियों का प्रभावी ढंग से प्रबंधन करने के लिए मार्गदर्शन करेंगे। केंद्र सरकार वैश्विक महामारी के खिलाफ संपूर्ण सरकार और पूरे समाज के दृष्टिकोण से लड़ रही है। कोविड-19 के उच्च कैसलोएड की रिपोर्ट करने वाले विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का दौरा करने के लिए समय-समय पर समान केंद्रीय टीमों का गठन किया जा रहा है।