चुनाव में शाम, दाम, दण्ड, भेद सब अपनाया जाता है। राजनीति में कम कुछ भी हो सकता है। इसके आए दिन चौंका देने वाले किस्से देखने और सुनने को मिलते है। लेकिन असली राजनेता वही है जो गर्म माहौल में मौके पर चौका मार दें। इसका सबसे बड़ा उदाहरण देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है। इनके कम कैसे रूप रंग वेशभूषा बदल जाती किसी को खबर नहीं है।




दरअसल, पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly election 2022) के लिए बमुश्किल एक महीना बचा है, भाजपा के "स्टार प्रचारक (Star campaigner)" प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनावी स्टंट जारी रखे हैं। एक मणिपुरी स्टोल (Manipuri stole) और उत्तराखंड की ब्रह्मकमल टोपी (Brahmakamal cap) पहनने के बाद, पीएम मोदी ने दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में एक NCC रैली में भाग लेने के दौरान सिख पगड़ी (Sikh turban) पहनी।




विशेष रूप से, पंजाब (Punjab) में भारत में सिखों (Sikhs) की सबसे बड़ी आबादी है, जिसकी संख्या लगभग 16 मिलियन है, जो राज्य की आबादी का 57.69% है। और, पंजाब उन पांच राज्यों में शामिल है जहां अगले महीने चुनाव होने हैं। इस प्रकार, जो एक स्पष्ट चुनावी स्टंट (Election Stunt) प्रतीत होता है, पीएम मोदी (PM Modi) ने सिख पगड़ी पहन रखी है, यह आश्चर्य की बात नहीं है।



उल्लेखनीय है कि इससे पहले गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर, पीएम मोदी ने उत्तराखंड (Uttarakhand) और मणिपुर (Manipur) के चुनावी राज्यों को एक स्पष्ट संदेश में, ब्रह्मकमल टोपी पहनी थी, जो हिमालयी राज्य उत्तराखंड की मूल निवासी है, और एक मणिपुरी स्टोल (Manipuri stole) है।