मणिपुर में एक रैली (rahul gandhi in manipur) को संबोधित करते हुए कांग्रेसी नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने लोगों को आश्वासन दिया कि उनकी पार्टी राज्य की अनूठी संस्कृति, इतिहास और भाषाओं का सम्मान और रक्षा करेगी। वे मणिपुर विधानसभा चुनाव (Manipur Assembly Elections) से पहले पार्टी के प्रचार के लिए इम्फाल की एक दिवसीय यात्रा के दौरान हट्टा कांगजीबुंग (Hatta Kangjibung) में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। यहां राहुल गांधी का मणिपुर की पारंपरिक टोपी पहनाकर स्वागत किया गया। 

ये भी पढ़ें

अभी बस इतने से रुपए करें जमा, आपको हर महीने मिल सकते हैं 5 हजार रुपए, जानिए कैसे

उन्होंने भाजपा और आरएसएस (RSS) पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके नेता जनता को उकसाने का काम करते हैं। मणिपुर में भाजपा ताड़ के बागानों पर कब्जा करना चाहती है, ताकि पतंजलि (Patanjali) जैसे कॉर्पोरेट को फायदा पहुंचे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बागवानी उत्पादों के लिए एमएसपी लागू करना चाहती है। वहीं यहां अच्छी सिंचाई की सुविधाएं देकर राज्य को चावल उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाना चाहती है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ऑक्सीजन और दवाईयों पर ध्यान देने के बजाए ताली बाजाओ, थाली बजाओ पर ही ध्यान देते रहे, जिसके कारण राज्य में ऑक्सीजन और वैटिंलेटर की कमी के कारण हजारों लोगों की जान चली गई। 

ये भी पढ़ें

नौकरी देने के बहाने बंदे को बुलाया, फिर किया अपहरण और 6 महीने तक निकाला खून, चौंका देगी ये कहानी


उन्होंने कहा कि राज्य में अभी भी टीकाकरण (Vaccination in Manipur) की दर बहुत कम है।  उन्होंने कहा कि मणिपुर की महिलाएं राज्य की असली ताकत हैं, इसलिए कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र (Manipur Congress Manifesto) में महिलाओं को एक तिहाई नौकरी देने का वादा किया है।  कांग्रेसी नेता ने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस में यही अंतर है कि बीजेपी कॉर्पोरेटर की मदद करना चाहती है, जबकि कांग्रेस लोगों के अधिकारों की रक्षा और किसानों की मदद करना चाहती है। उनका शाम तक विशेष विमान से बीर टिकेंद्रजीत हवाई अड्डे से दिल्ली लौटने का कार्यक्रम है।