भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और मणिपुर के प्रभारी संबित पात्रा (sambit patra in manipur rally) ने एक चुनावी रैली में गांधी परिवार पर मणिपुर को पारिवारिक एटीएम (family ATM) के रूप में मानने और राज्य को 15 साल तक मुख्यधारा से दूर रखने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस पर तंज कसा। 

ये भी पढ़ें

बेहद स्टाइलिश होती है मणिपुरी ड्रेस इनाफी, ये खूबियां जानकर पहनने का करेगा मन


उन्होंने कहा कि गांधी परिवार पूर्वोत्तर और मणिपुर (Manipur) को अपना एटीएम कार्ड मानता है। इस सरकार से पहले 15 साल तक उनकी (राज्य में) सरकार थी और जब भी उन्हें दिल्ली में पैसा चाहिए था, वे कहते थे कि मणिपुर जाओ, एटीएम में कार्ड डाल दो और पैसे निकाल लो। आपका सारा पैसा अब गांधी की तिजोरी में है और इसलिए मणिपुर में कोई विकास नहीं हुआ। बाद में उन्होंने ट्वीट किया, गांधी परिवार और कांग्रेस (Congress) अपने लालच को पूरा करने के लिए मणिपुर को एटीएम मानते हैं।

ये भी पढ़ें

इस मुख्यमंत्री ने जताई चिंता , कहा - एनपीपी के उम्मीदवार के पिता पर हमला "राजनीति से प्रेरित"

पात्रा ने कहा कि मणिपुर संस्कृति और प्रतिभा की भूमि है, लेकिन कांग्रेस ने लोगों के खिलाफ काम करना चुना। उन्होंने कहा, लेकिन मुझे दुख होता है जब मैं देखता हूं कि कैसे 70 साल तक जब वह केंद्र में सत्ता में थी, कांग्रेस ने मणिपुर (Manipur) और पूर्वोत्तर को किनारे कर दिया। यह एक अक्षम्य साजिश है जो कांग्रेस ने मणिपुर के लोगों को मुख्यधारा से दूर रखकर उनके खिलाफ साजिश रची थी। पात्रा ने कहा कि राज्य में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से स्थिति बदल गई है। अतीत में, मणिपुर के कांग्रेस नेता नई दिल्ली में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ एक नियुक्ति के लिए हाथ जोडक़र अनुरोध करते थे, लेकिन कोई उनसे नहीं मिलता था। आज मुख्यमंत्री बीरेन सिंह (N Biren Singh) दिल्ली नहीं जाते हैं। केंद्रीय मंत्री उनसे मिलने मणिपुर आते हैं।