मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने मणिपुर के एक प्रतिनिधिमंडल को अमित शाह के घर में प्रवेश करने से पहले अपने जूते उतारने के लिए कहने के बारे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर उनकी कड़ी आलोचना की है।
राहुल गांधी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए, मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह (CM Biren Singh) ने कहा कि “मणिपुरी संस्कृति में यह एक पुरानी परंपरा है कि हम किसी के घर में प्रवेश करते समय अपने जूते उतार दें। जो लोग इसे किसी तरह का अपमान समझ कर फैला रहे हैं, वे मणिपुरी संस्कृति से बेखबर हैं। श्रीमान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) कृपया मणिपुर के बारे में बोलने से पहले कुछ मणिपुरी संस्कृति पर ध्यान दें "।

मणिपुर के मंत्री टी विश्वजीत सिंह (T Biswajit Singh) ने भी राहुल गांधी की आलोचना करते हुए उनसे देश को 'गुमराह' करने से रोकने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि "एक व्यक्ति जो इटली की प्रशंसा करता है, वह भारत की संस्कृति को कभी नहीं समझ पाएगा! प्रिय राहुल गांधी (Rahul Gandhi), देश को गुमराह करना बंद करो! मणिपुर को छोड़ दें और अपनी तकनीकों को कहीं और आजमाएं! ऐसे हर कदम के साथ आप कांग्रेस मुक्त मणिपुर के करीब पहुंच रहे हैं "।
बता दें कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान दावा किया था कि गृह मंत्री अमित शाह द्वारा मणिपुरी प्रतिनिधिमंडल का 'अपमान' किया गया था।

राहुल गांधी ने कहा कि "कुछ दिन पहले, एक 'उत्तेजित' मणिपुरी प्रतिनिधिमंडल ने मुझे बताया कि जब वे दिल्ली में उनके आवास पर उनसे मिलने गए तो गृह मंत्री ने उनका अपमान किया। पूछने पर उन्होंने कहा कि गृह मंत्री (Amit Shah) के घर में घुसने से पहले उन्हें जूते बाहर उतारने को कहा गया. लेकिन घर में प्रवेश करने के बाद उन्होंने पाया कि गृह मंत्री खुद अपनी चप्पलों में हैं, ”।

उन्होंने आगे कहा कि "वास्तव में इसका क्या मतलब है? ऐसा क्यों है कि गृह मंत्री (Amit Shah) के घर में वह चप्पल पहन सकते हैं, लेकिन मणिपुर का एक प्रतिनिधिमंडल ऐसा नहीं कर सकता। राहुल गांधी के इस बयान के बाद संसद में जोरदार हंगामा हुआ।