मणिपुर विधानसभा चुनाव 2022 से कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री N. बीरेन सिंह (N. Biren Singh) ने राज्य के विधायकों को लेकर बयान जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि '' मेरी बातचीत से एक बात साफ है कि जनता अपने विधायक से तंग आ चुकी है ''। मुख्यमंत्री बीरेन लोगों के छोटे समूहों के साथ बातचीत के लिए कीसमथोंग एसी में क्वाकीथेल क्षेत्र का दौरा किया है।


Biren Singh ने कहा कि जहां मुझे मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा लाए गए कुछ बड़े बदलावों को उजागर करने का अवसर मिला। कीशमथोंग (Kwakethel) निर्वाचन क्षेत्र के लोग एक बदलाव की लालसा रखते हैं जो केवल भाजपा द्वारा ही दिया जा सकता है। इस आगामी चुनाव में, उन्हें अंततः निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा विधायक चुनने का अवसर मिल रहा है।  


दूसरी ओर सगोलबंद (Sagolband) निर्वाचन क्षेत्र के कार्यक्रम में भाग लेते हुए उन्होंने कहा है कि पिछले पांच वर्षों में मणिपुर में मुझे कुछ नेताओं को बुलाने के लिए भी मजबूर होना पड़ा, जिन्होंने लोगों को पार्टी के टिकट से इनकार करने के लिए कुछ सबसे असभ्य विरोध प्रदर्शनों में शामिल होने के लिए उकसाया। इस बार सगोलबंद विधानसभा (Sagolband assembly) क्षेत्र के लोगों ने विपक्ष और पार्टी का झंडा जलाने वालों को एक बड़ा सबक सिखाने का संकल्प लिया है।
चुनाव के कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री Biren Singh ने कीशमथोंग निर्वाचन क्षेत्र के तहत विभिन्न इलाकों में हाओबम मराक, खगेमपल्ली हुइड्रोम लेइकाई, कीशमपत थियाम लेइकाई और नेप्रामेनजोर ममांग लीकाई का दौरा किया है। उन्होंने कहा कि मुझे मणिपुर में भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद से विभिन्न विकासात्मक परिवर्तनों को उजागर करने का अवसर मिला है।