आगामी 30 अक्टूबर को मणिपुर में उप चुनाव होने वाले हैं।  अभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव प्रचार प्रसार में व्यस्त हैं। इसी चुनाव प्रचार में के थौबल जिले (Thoubal district) के हेरोक निर्वाचन क्षेत्र में BJP और कांग्रेस (Congress) के पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच घातक झड़प के बाद धारा 144 CRPC लागू कर दी गई है। प्रतिबंधों का आदेश थौबल के जिला मजिस्ट्रेट ने दिया था, जिन्होंने कहा कि यह अगली सूचना तक जारी रहेगा।

आधिकारिक रिपोर्टों के अनुसार, राज्य के प्रमुख राजनीतिक दलों के कुछ उम्मीदवारों ने जिले को "युद्ध के मैदान" में बदल दिया है। भाजपा नेता टी राधेश्याम (T Radheshyam) ने कहा है कि "कुछ कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई है। सिर ढके लोगों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला किया।" भाजपा नेता ने यह भी दावा किया कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर कुछ उपद्रवियों ने AK-47 गोला बारूद से हमला किया।
उन्होंने कहा कि "ये बंदूकें कुछ निर्वाचित सदस्यों के गार्डों को जारी की गई थीं। जल्द ही एक चरण आ सकता है जब नाराज ग्रामीणों को अब रोका नहीं जा सकता है।" मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (CM N Biren Singh) ने जनता से चुनाव से पहले चुनाव पूर्व हिंसा में शामिल होने से बचने की अपील की है।


बता दें कि थौबल जिले के रहने वाले एक पत्रकार (journalist) को कांग्रेस पार्टी (Congress workers) के करीब 20 कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर पीटा था। रामेश्वर के आवास पर लगभग 20 लोगों के एक समूह ने छापा मारा और हमला किया, जो थौबल जिले के हिरोक निर्वाचन क्षेत्र के तहत ब्लॉक कांग्रेस के कथित कार्यकर्ता हैं।