मणिपुर विधानसभा चुनावों में भाजपा के 40 से अधिक सीटें जीतने के दावे को खारिज करते हुए कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह ने कहा कि चुनाव के बाद भगवा पार्टी की कोई सरकार नहीं होगी। बता दें कि इन चुनावों में कांग्रेस 54 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

ओकराम इबोबी सिंह  ने कहा कि 5 साल के दौरान भाजपा सरकार ने राज्य में कोई विकास कार्य नहीं कराए और इसी वजह से भगवा पार्टी मणिपुर चुनावों में साफ हो जाएगा। कांग्रेसी उम्मीदवार और पूर्व मंत्री मोइरंगथेम ओकेन सिंह के थौबल जिले की हीरोक सीट पर उनके आवास पर ध्वजारोहण समारोह के दौरान इबोबी ने राज्य की वर्तमान सरकार को तानाशाही करार दिया। 

बता दें कि हिरोक सीट पर 5 मार्च को दूसरे चरण में वोटिंग होगी। फिलहाल इस सीट का प्रतिनिधित्व भाजपा विधायक थोकचोम राधेशम सिंह कर रहे हैं, जो कि ओकेन के कट्टर प्रतिद्वंदी हैं। इबोबी ने आरोप लगाया कि हिरोक विधानसभा में पहले तेजी से विकास हुआ था, लेकिन भाजपा विधायक आने के बाद यहां हिंसा बढ़ चुकी है। हीरोक निर्वाच क्षेत्र में भाजपा शासन के दौरान ही चुनावी हिंसा और आम लोगों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था।  उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में वोट की ताकत बंदूक और बमों से ज्यादा शक्तिशाली है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि मणिपुर में जल्द ही कांग्रेस की सरकार आएगी। ओकेन ने लोगों से हिरोक और एक नए मणिपुर में शांति और विकास लाने के लिए कांग्रेस को समर्थन और वोट देने की अपील की। एआईसीसी नेता और मणिपुर के प्रभारी भक्त चरण दास और असम के कई वरिष्ठ विधायक ध्वजारोहण समारोह में शामिल हुए।