मणिपुर के कार्यवाहक मुख्यमंत्री N Biren Singh और भाजपा के वरिष्ठ विधायक बिस्वजीत सिंह, जिन्हें भगवा पार्टी के लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद सीएम पद के दावेदार के रूप में देखा गया था, अलग-अलग उड़ानों में दिल्ली के लिए रवाना हुए है। जिससे कयास लगाए जा रहे हैं कि मणिपुर के मुख्यमंत्री का नाम जल्दी ऐलान कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- रूसी बम से ब्लास्ट हुआ यूक्रेन का थियेटर, एक के बाद एक निकाली लाशें, लग गया ढेर

भाजपा सूत्रों ने कहा कि दोनों नेता पार्टी के शीर्ष नेताओं द्वारा बुलाए जाने के बाद राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हुए और इस बार का मुख्यमंत्री कौन होगा, यह रविवार तक पता चलने की संभावना है। चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद, बीरेन सिंह, थ बिस्वजीत और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ए शारदा देवी पार्टी के भीतर "समूहवाद" की खबरों के बीच 15 मार्च को दिल्ली गए थे और 17 मार्च को इंफाल लौट आए थे।

सोशल मीडिया पर इस तरह की अटकलों का दौर चल रहा था कि दोनों में से कौन अगला मुख्यमंत्री बनेगा। फैसला बीजेपी संसदीय बोर्ड करेगा। भाजपा उग्रवाद प्रभावित मणिपुर में 60 के सदन में 32 सीटें जीतकर सत्ता में लौटी। यह दो स्थानीय पार्टियों एनपीपी और एनपीएफ के साथ हाथ मिलाकर कांग्रेस की 28 की तुलना में सिर्फ 21 सीटों के बावजूद 2017 में सरकार बनाने में सफल रही थी।


यह भी पढ़ें- PM मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री को तोहफे में दी ' श्री कृष्ण' की बेहद अद्भुत चीज, देखते ही उड़ जाएंगे होश
हालांकि, इस बार, भाजपा अकेले चुनाव लड़ी और बहुमत हासिल करने में कामयाब रही कि पार्टी को एक वोट घाटी और पहाड़ियों दोनों में अशांत राज्य में शांति लाएगा, जहां आदिवासियों का कब्जा है।