दुनिया भारत ही एक ऐसा देश हैं जहां सभी 6 ऋतुएं पाई जाती है। यही कारण है कि विदेशी पक्षी भी हजारों मिल दूर अपना प्रजनन करने यहां आते हैं। इसी तरह से अमूर बाज़, जिसे दुनिया की सबसे लंबी यात्रा करने वाला पक्षी कहा जाता है। क्योंकि ये कम से कम 20,000 से ज्यादा दूर तय कर लेता है। यह भारत के पूर्वोत्तर मणिपुर राज्य के तामेंगलोंग जिले में पहुंचा है। 


तमेंगलोंग वन प्रभाग ने बताया कि अर्नहिपुइना/प्रवासी रैप्टर्स अमूर फाल्कन्स का पहला बैच रेनफॉरेस्ट क्लब तामेंगलोंग (9 अक्टूबर को) के सदस्यों में से एक के रूप में रिपोर्ट किया गया है। सूत्रों ने कहा कि अपने वार्षिक नियमित प्रवास को जारी रखने के तहत, अमूर फाल्कन्स, जो दक्षिण-पूर्व रूस और उत्तर-पूर्व चीन में अपने प्रजनन के आधार पर ग्रीष्मकाल बिताते हैं, लेकिन अब अफ्रीका के रास्ते में इस क्षेत्र में पहुंचने लगे।


जानकारी के लिए बता दें कि अमूर फाल्कन्स, जिसे स्थानीय रूप से तामेंगलोंग में अखुआइपुइना के रूप में जाना जाता है, जो दक्षिण अफ्रीका में अपने सर्दियों के मैदानों की ओर पलायन करते हैं, जो कि आमतौर पर अक्टूबर में नागालैंड और मणिपुर में बड़ी संख्या में पहुंचते हैं और इसके अलावा पूर्वोत्तर में कुछ अन्य स्थानों पर लगभग 20,000 किमी की वार्षिक यात्रा करते हैं। इस बीच, शनिवार को मणिपुर के तामेंगलोंग जिले के सुरम्य च्युलुआन गांव में विश्व प्रवासी पक्षी दिवस (WMBD) मनाया गया।