मणिपुर में अवैध घुसपैठ के आरोप में एक महिला समेत म्यांमार के पांच नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है। गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तारियां चुराचांदपुर जिले के नगाथल गांव से की गईं। इंफाल पुलिस प्रवक्ता के अनुसार म्यांमार के नागरिक अवैध रूप से सीमा पार कर गए थे और गांव के एक घर में रह रहे थे।

ये भी पढ़ेंः मणिपुर के लोगों ने ली राहत की सांस, आखिरकार चालू हुआ मोबाइल इंटरनेट


प्रवक्ता ने कहा, वे पहचान और नागरिकता के किसी भी दस्तावेज को पेश नहीं कर सके इसलिए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आगे की जांच के लिए संज्ञान लिया गया है। बता दें कि म्यांमार से अवैध घुसपैठ के साथ ही दवाओं, हेरोइन और मेथामफेटामाइन गोलियों की बड़े पैमाने पर तस्करी होती है। इतना ही नहीं म्यांमार के क्षेत्रों में शरण लेने वाले उग्रवादियों और पूर्वोत्तर चरमपंथियों की बार-बार सीमा पार आवाजाही भारतीय सुरक्षा बलों के लिए बड़ी चुनौती है। 1,643 किलोमीटर लंबी भारत-म्यांमार सीमा एक खुली सीमा है, जिसमें दोनों तरफ 16 किमी के भीतर एक मुक्त आवाजाही व्यवस्था है।

ये भी पढ़ेंः अब इस राज्य में लागू होंगे जनसंख्या नियंत्रण कानून और एनआरसी! विधानसभा में प्रस्ताव स्वीकार


गौरतलब है कि बीते दिनों मणिपुर में राज्य बलों की एक संयुक्त टीम ने मादक पदार्थ जब्त किया, जिसकी कीमत करीब 82 करोड़ रुपये है। इंडियन रिजर्व बटालियन (आईआरबी), नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर (एनएबी) और लिलोंग पुलिस टीम, कमांडेंट 08 आईआरबी संयुक्त टीम ने खुफिया जानकारी के आधार पर इमेम बीबी नाम की एक महिला के घर छापेमारी की। जहां युमखैबम मुस्तफा नाम का तस्कर अवैध रूप से संदिग्ध ब्राउन शुगर का निर्माण करते पाया गया। उसके पास से कुल 54.685 किलोग्राम ब्राउन शुगर जब्त की, जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 82 करोड़ रुपये आंकी गई है।