राज्य सरकार के चल रहे 'ड्रग्स पर युद्ध' अभियान के तहत कांगपोकपी जिला पुलिस, वन अधिकारियों और असम राइफल्स (एआर) की एक संयुक्त टीम ने जिले में कोबरू पहाड़ी श्रृंखला पर 35 एकड़ अवैध अफीम की खेती को नष्ट कर दिया। वहीं एक अन्य कार्रवाई में पुलिस और अर्धसैनिक बल की एक अन्य संयुक्त टीम ने 2.89 किलोग्राम ब्राउन शुगर जब्त की।

विजय हजारे ट्रॉफी: हैदराबाद ने मणिपुर को 7 विकेट से हराया, तिलक वर्मा ने खेली शतकीय पारी


कांगपोकपी की एसपी अमृता सिन्हा ने बताया कि मणिपुर पुलिस विभाग की एक इकाई नारकोटिक एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर्स (एनएबी) के कर्मी और सैतु के उप-डिप्टी कलेक्टर भी 140 लोगों की संयुक्त टीम में थे, जिन्होंने अफीम की खेती को नष्ट किया था। पुलिस अधिकारी ने कहा कि नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडी एंड पीएस) अधिनियम की धारा 18 (बी) के तहत आगे की जांच के लिए स्वत: संज्ञान लेते हुए मामला उठाया।

मणिपुर और केरल के कलाकारों ने मचाई धूम, देर रात तक थिरकते रहे दर्शक


उन्होंने कहा, कांगपोकपी पुलिस अफीम की खेती को नष्ट करने के अभियान को सक्रिय रूप से जारी रखेगी और अवैध अफीम की खेती करने वालों के साथ-साथ भूमि मालिकों के खिलाफ कानून के अनुसार आवश्यक कार्रवाई के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। इस बीच कांगपोकपी पुलिस और एआर सैनिकों की एक संयुक्त टीम ने लुंगफौ गांव के पास सघन तलाशी और जांच के दौरान तीन व्यक्तियों से लगभग 2.89 किलोग्राम ब्राउन शुगर जब्त की।