इंफाल। मणिपुर की विभिन्न घाटी स्थित भूमिगत समूहों के कम से कम 31 उग्रवादियों ने बुधवार को इंफाल में हथियार डाले। मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने पहली बटालियन मणिपुर राइफल्स के परिसर में एक समारोह में विभिन्न उग्रवादी समूहों के 31 कैडरों का मुख्यधारा में स्वागत किया। 

ट्विटर और मेटा के बाद Amazon ने की बड़े पैमाने पर छंटनी की घोषणा

मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने मुख्यधारा में लौटने के लिए आत्मसमर्पण करने वाले उग्रवादियों की सराहना की। मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने कहा, "आज इंफाल के 1 एमआर बैंक्वेट हॉल में घर वापसी समारोह के दौरान हथियार डालने के लिए मैं विभिन्न यूजी समूहों के 31 कैडरों का हार्दिक स्वागत करता हूं।" 

बीजेपी को बड़ा झटका, भाजपा के तीन जिलाध्यक्ष जदयू में शामिल हुए

उन्होंने कहा, "यह मेरा दृढ़ विश्वास है कि कई और मुख्यधारा में लौट आएंगे और एक प्रगतिशील मणिपुर बनाने के काम में शामिल होंगे।" मणिपुर के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार सभी उग्रवादी समूहों के साथ बातचीत के लिए तैयार है, ताकि कैडर मुख्यधारा में लौट सकें। 

उन्होंने मणिपुर में सक्रिय सुरक्षा बलों से यूजी समूहों के सदस्यों को मुख्यधारा में वापस लाने के लिए राज्य सरकार के साथ सहयोग करने की भी अपील की। आत्मसमर्पण करने वाले 31 उग्रवादियों में KCP (PWG) के 17, UNLF के 4, PREPAK के 6, KYKL के 3 और PREPAK (VC) के 1 शामिल थे।