मणिपुर में दो लोगों को ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि थौबल जिले में दो व्यक्तियों को लाखों रुपये के ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि इसके अलावा रविवार को चलाए गए दो ऑपरेशन में एक वाहन और हथियार भी बरामद किए गए हैं। 

पुलिस अधीक्षक सोइबम इबोम्चा सिंह ने बताया कि इस घटना कि जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने एंटी-ड्रग्स एसोसिएशन के साथलिलॉन्ग हाओरीबी सम्ब्रुखोंग में एमडी असलम खान के घर छापा मारा। इस दौरान उन्हें 542 याबा टैबलैट (Yaba tablets) के साथ गिरफ्तार किया गया है। 

बता दें कि कि पूर्वोतर राज्य में ड्रग्स माफिया को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस हमेशा एक्टिव रहती है। हाल ही की दिनों में मुख्यमंत्री भी ड्रग्स से जुड़े केस में चर्चा में है। सीएम बीरेन सिंह पर एक पुलिस अधिकारी ने एक ड्रग्स केस के आरोपित को छोड़ने के लिए दवाब बनाए जाने का आरोप लगाया है। एसपी बंदा ने इंफाल हाई कोर्ट में शपथपत्र दायर कर कहा कि ड्रग्स माफिया को छोड़ने का सीएम ने उन पर दबाव बनाया था और वह आरोपित एक भाजपा नेता है। बता दें कि एक महीने पहले भी बृंदा ने गंभीर आरोप लगाए थे। पुलिस अधिकारी और उनकी टीम ने साल 2018 में भाजपा के घर करोड़ों रुपये ड्रग्स बरामद किए थे।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने इन आरोपों का जबाव देते हुए कहा कि यह कानूनी मामला है और इसका जबाव वह अदालत में देंगे। उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि जब कोई कानूनी मामला होता है तो उसमें कोई भी अपना हस्तक्षेप नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि वह कोर्ट में जबाव देंगे और न्याय होगा। उन्होंने कहा कि ड्रग्स के खिलाफ मेरी और पार्टी की लड़ाई जारी है और इसमे मैं या मेरे रिश्तेदार शामिल नहीं है।