वर्ष 2020-21 के लिए फैलोशिप इंफाल में पर्यावरण निदेशालय में एक कार्यशाला के दौरान पत्रकारों को प्रदान की गई है। मणिपुर के पहाड़ी जिलों के चार सहित 12 पत्रकारों को जलवायु परिवर्तन पर रिपोर्टिंग के लिए राज्य स्तरीय मीडिया फैलोशिप से सम्मानित किया गया है। मीडिया फैलोशिप प्राप्त करने वाले पत्रकार, नंदो वाखोम (द संगाई एक्सप्रेस), पुइगिलुंग केमेई (ऑल इंडिया रेडियो), डैनियल चबंगबम (पोकनाफाम), लोंग्जाम ऐरिशोन (द पीपुल्स क्रॉनिकल), बाबी शिरीन (इम्फाल फ्री प्रेस), फुरेलपट्टम केन्याया हैं।


पर्यावरण निदेशक डॉ. वाई नाबाचंद्र; इरेंगबम अरुण, जलवायु परिवर्तन के लिए राज्य मीडिया संसाधन केंद्र के सलाहकार, प्रदीप फंजौबम, एफपीएसजे में आर्ट्स एंड पॉलिटिक्स की समीक्षा, एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक, वरिष्ठ पत्रकार सलाम राजेश और जलवायु परिवर्तन के लिए राज्य मीडिया संसाधन केंद्र के समन्वयक शोभापति सामोम अन्य लोगों के अलावा कार्यक्रम में उपस्थित थे। साथ ही पत्रकार जिमी पमेई (तमेंगलोंग टाइम्स), हुइडरोम रेमन (टॉम टीवी), मिशलजीत युनाम (ISTV) और केएस प्रेमचंद (इम्पैक्ट टीवी), जोगी टुडे के जॉनसन पौ जू, इम्फाल फ्री प्रेस), थॉमस फेलिक्स (हिल्स हॉर्नबिल एक्सप्रेस) और आर लेस्टर माकंग (द पीपल्स क्रॉनिकल) शामिल हैं।

 
जलवायु परिवर्तन के लिए राज्य मीडिया संसाधन केंद्र में ऐलान किया गया है कि चुरचंदपुर में एक रिपोर्टर रोज फेलोशिप प्राप्त करने वाले उनकी यात्रा और अनुसंधान का समर्थन करने के लिए किश्तों में 50,000 रुपये की राशि प्राप्त करेंगे। चयनित पत्रकार, जो कोरोना के कारण से व्यक्तिगत रूप से कार्यशाला में भाग नहीं ले सकते थे, ऑनलाइन कार्यक्रम में शामिल हुए। इनको भी ऑनलाइन सम्मानित किया गया है।