मणिपुर में 27 वर्षीय युवती ने कुछ ऐसा कारनामा कर दिखाया है कि हर कोई उसकी कला की वाहवाही करते नहीं थक रहा। प्रदेश के बिष्णुपुर जिले स्थित एक गांव में बिजयशांति टोंगब्रम नाम की महिला ने कमल के फूल की डंठल से धागा बनाने का काम शुरू किया है।

कमल के फूल की डंडी से धागा बनाने का काम बिजयशांति टोंगब्रम अपनी छोटी सी टीम के साथ कर रही है। उन्हें इस काम का आइडिया किसी बुजुर्ग से मिलगा। इसके बाद खुद से इस बारे में पता लगाया कि कमल की डंठल से आखिर कैसे धागा बनाया जा सकता है। सफलता मिलने के बाद इस काम को अपनी छोटी टीम के साथ शुरू कर दिया।

इससे पहले 27 साल की बिजयशांति टोंगब्रम ने कमल का ही उपयोग करके चाय बनाने की कोशिश की थी। उन्होंने अपने काम के बारे में न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि मुझे यह आइडिया अपने बुजुर्ग से मिला, फिर इसके बाद मैंने अपने दम पर रिसर्च किया और पाया कि कमल के डंठल से धागे का उत्पादन किया जा सकता है। इससे पहले, मैंने कमल की चाय बनाने की कोशिश की थी।"