कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। इसी बीच परमिशन नहीं होने के बावजूद प्रियंका गांधी मार्च निकाल रही थीं जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन राहुल गांधी ने राष्ट्रपति के पास गुहार लगा दी है। इनमें के.सी. वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला भी शामिल हैं।
प्रियंका ने कहा कि भाजपा नेता और समर्थक किसानों के जो शब्द इस्तेमाल कर रहे हैं, वह पाप है। अगर सरकार किसानों को देश विरोधी कहती है तो, सरकार पापी है।इस सरकार के खिलाफ किसी भी तरह के असंतोष को आतंक के नजरिए से देखा जा रहा है। हम किसानों के समर्थन में आवाज बुलंद करने के लिए यह मार्च कर रहे थे।

हालांकि, राहुल गांधी समेत तीन नेता राष्ट्रपति भवन जा सकेंगे। साथ ही नई दिल्ली इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है और राष्ट्रपति भवन के पास सुरक्षा को बढ़ाया गया है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार को घेरा है। राहुल ने लिखा कि भारत के किसान ऐसी त्रासदी से बचने के लिए कृषि-विरोधी क़ानूनों के ख़िलाफ़ आंदोलन कर रहे हैं, इस सत्याग्रह में हम सबको देश के अन्नदाता का साथ देना होगा।