नए साल पर पीएम मोदी ने गरीबों को बड़ा तोहफा दिया है जिसके तहत उन्हें बेहद सस्ते घर दिए जाएंगे। यह काम सबसे पहले देश के 6 राज्यों में किया जाएगा। इन 6 राज्‍यों में ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज इंडिया के तहत लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स शुरू किए जाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि आज नए संकल्पों के साथ तेज गति से आगे बढ़ने का शुभारंभ है। ये 6 प्रोजेक्ट वाकई लाइट हाउस यानी प्रकाश स्तंभ की तरह हैं। ये 6 प्रोजेक्ट देश में हाउसिंग कंस्ट्रक्शन को नई दिशा दिखाएंगे।

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दी। पीएम ने कहा कि शुभकामनाएं। आज नई ऊर्जा, नए संकल्पों के साथ और नए संकल्पों को सिद्ध करने के लिए तेज़ गति से आगे बढ़ने का शुभारंभ है। आज गरीबों के लिए, मध्यम वर्ग के लिए, घर बनाने के लिए नई टेक्नॉलाजी मिल रही है।
पीएम ने कहा कि ये लाइट हाउस प्रोजेक्ट अब देश के काम करने के तौर.तरीकों का उत्तम उदाहरण है। हमें इसके पीछे बड़े विजन को भी समझना होगा। उन्होंने कहा कि एक समय आवास योजनाएं केंद्र सरकारों की प्राथमिकता में उतनी नहीं थी। जितनी होनी चाहिए। सरकार घर निर्माण की बारिकियों और क्वालिटी में नहीं जाती थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बहुत ही कम समय में लाखों घर बना कर दिए जा चुके हैं, लाखों घरों का निर्माण जारी भी है। पीएम मोदी ने कहा कि शहर में रहने वाले गरीब हों या मध्यम वर्गए इन सबका सबसे बड़ा सपना होता है। अपना घर। वो घर जिसमें उनकी खुशियांए सुख.दुखए बच्चों की परवरिश जुड़ी होती हैं। लेकिन बीते वर्षों में लोगों का अपने घर को लेकर भरोसा टूटता जा रहा था। पीएम ने कहा कि आज मुझे संतोष है कि बीते 6 वर्षों में जो कदम उठाये गए हैं उसने एक सामान्य आदमी का, खासकर मेहनतकश मध्यमवर्गीय परिवार का यह भरोसा लौटाया है कि उसका भी अपना घर हो सकता है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि घर बनाने से जुड़े लोगों को नई तकनीक से जुड़ी स्किल अपग्रेड करने के लिए सर्टिफिकेट कोर्स भी शुरू किया जा रहा है ताकि देशवासियों को घर निर्माण में दुनिया की सबसे अच्छी तकनीक और मटेरियल मिल सके।  देश में ही आधुनिक हाउसिंग तकनीक से जुड़ी रिसर्च और स्टार्टअप्स को प्रमोट करने के लिए आशा इंडिया प्रोग्राम चलाया जा रहा है। इसके माध्यम से भारत में ही 21वीं सदी के घरों के निर्माण की नई और सस्ती तकनीक विकसित की जाएगी। उन्होंने कहा कि हर जगह एक साल में 1000 घर बनाए जाएंगे।
जानकारी के मुताबिक इन घरों की कीमत 12.59 लाख रुपये है। जिसमें केंद्र और प्रदेश सरकार की तरफ से 7.83 लाख रुपये अनुदान के तौर पर दिए जाएंगे। बाकी 4.76 लाख रुपये लाभार्थियों को देने होंगे। फ्लैट का आवंटन प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अनुसार होगा।