पाकिस्तान में राजनीतिक हालात बेहद खराब हो चुके हैं। पाकिस्तान के कायदे आजम कहे जाने वाले मोहम्मद अली जिन्ना की मूर्ती को यहां पर बम से उड़ा दिया गया। आज घटी इस घटना को बलूच विद्रोहियों ने अंजाम दिया है। खबर है कि यह हमला पाकिस्‍तान के ग्‍वादर शहर में हुआ है जहां चीन चाइना-पाकिस्‍तान आर्थिक कॉरिडोर के तहत अरबों डॉलर का निवेश कर रहा है। इस बम हमले की जिम्मेदारी बलूच लिबरेशन फ्रंट ने ली है।

खबर है कि जिन्‍ना की इस मूर्ति को इस साल के शुरू में मरीन ड्राइव इलाके में लगाया गया था जिसे सुरक्ष‍ित इलाका माना जाता है। लेकिन कुछ विद्रोहियों ने मूर्ति के नीचे बम लगा दिया था और बाद में उसे उड़ा दिया। यह बम इतना शक्तिशाली था कि जिन्‍ना की मूर्ति पूरी तरह से नष्‍ट हो गई। बम किस तरह का था, अभी इसका पता नहीं चला है। 

हालांकि पाकिस्‍तानी सुरक्षा बल जिन्‍ना की मूर्ति को नष्‍ट करने वालों की तलाश कर रहे हैं। इससे पहले भी बलूच विद्रोहियों ने एक बम हमला करके पाकिस्‍तानी सेना के फ्रंटियर कोर के एक वाहन को उड़ा दिया दिया। इस हमले में 4 सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं और दो अन्‍य घायल हो गए हैं। इस हमले की भी जिम्‍मेदारी बलूचिस्‍तान लिबरेशन आर्मी ने ली है।