मिथुन चक्रवर्ती भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं और 7 मार्च को PM मोदी की रैली में मौजूद रहेंगे। इस खबर के साथ ही पश्चिम बंगाल चुनावों में नया मोड़ आ गया है। गौरतलब है कि 16 फरवरी को मिथुन चक्रवर्ती की आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात हुई थी। इसी के बाद से चक्रवर्ती के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थी।
इससे पहले मिथुन चक्रवर्ती राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। उन्हें ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने राज्यसभा भेजा था और वह अप्रैल 2014 से दिसंबर 2016 तक सदन में रहे।

जल्द ही बंगाल में 294 सीटों के लिए आठ चरणों में वोटिंग होने जा रही है। 27 मार्च को पहले चरण के लिए मतदान होंगे। पहले चरण में 38 सीटों पर वोटिंग होगी। दूसरे चरण का मतदान 1 अप्रैल को होगा, इसके तहत 30 सीटों पर लोग वोट डालेंगे। तीसरे चरण की वोटिंग के लिए 6 अप्रैल का दिन तय किया गया है, जहां 31 सीटों पर लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।
10 अप्रैल को चौथे चरण में 44 सीटों पर वोटिंग होगी। पांचवें चरण का चुनाव 17 अप्रैल को होगा, जहां 45 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। इसके अलावा 22 अप्रैल को छठे चरण में 41 सीटों, 26 अप्रैल को सातवें चरण के तहत 36 सीटों तो वहीं आखिरी और आठवें चरण में 35 सीटों पर वोटिंग होगी। नतीजे 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

उधर ममता बनर्जी ने अपनी टीएमसी पार्टी 291 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है।