भारतीय संसद का शीतकालीन सत्र (india parliament winter session 2021) शुरू हो गया है। इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने विपक्षी दलों से संसद में शांति के साथ सवाल पूछने की अपील की। पीएम ने कहा कि सरकार किसी भी मुद्दे पर चर्चा करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। हमें देश हित के मुद्दों पर समझदारी और एकता के साथ बात करने की जरूरत है।

मोदी ने कहा कि यह अहम अवसर है, जब हमें रचनात्क चर्चा करके देशहित में आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि कि सरकार हर सवाल का जवाब देने को तैयार है और रचनात्मक चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संसद में सरकार और उसकी नीतियों के खिलाफ आवाज प्रखर होनी चाहिए, लेकिन संसद और चेयर की गरिमा भी बनाए रखनी चाहिए।

इस बीच कांग्रेस (Congress) ने संसद सत्र से पहले विपक्षी दलों की बैठक बुलाकर रणनीति तैयार की। हालांकि इस मीटिंग से आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने दूरी बना ली है। वहीं, कांग्रेस ने संसद में गांधी प्रतिमा के बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है।

कांग्रेस नेताओं की ओर से एमएसपी (msp) की गारंटी के लिए अलग से कानून बनाए जाने की मांग की जा रही है। इस शीत सत्र में कृषि कानून निरसन विधेयक के अलावा, अन्य 26 बिल भी सरकार के एजेंडे में हैं। यही वजह है कि भाजपा और विपक्ष ने अपने-अपने सांसदों को उपस्थित होने के लिए व्हिप जारी किया है।