किसानों और सरकार के बीच जारी 9वें दौर की बैठक भी फेल हो गई है। अब किसानों और सरकार के बीच 19 जनवरी को फिर से बैठक होगी। जिसके बाद अब किसान 26 जनवरी को ट्रेक्टर रेली का अयोजन करने जा रहे हैं। दिल्ली के विज्ञान भवन में करीब 4 घंटे चली बैठक में एमएसपी समेत नए कृषि कानूनों के विभिन्न मसलों पर बातचीत हुई लेकिन कानून को निरस्त करने की किसान संगठनों की मांग पर गतिरोध जारी रहा।

बैठक खत्म होने के बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बैठक में किसान संगठनों ने सरकर से कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी हमें स्वीकार नहीं हैण् उन्होंने बताया कि किसान संगठनों एवं सरकार ने तय किया है कि ये बातचीत जारी रहेगी और बातचीत से ही इसका हल निकालेंगे।

पंजाब के किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के जनरल सेक्रेटरी हरेंद्र सिंह लाखोवाल ने कहा कि लंच से पहले जिन मसलों पर बातचीत हुई उनमें आंदोलन से जुड़े किसानों पर पंजाब और हरियाणा में दर्ज मुकदमा और आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों की मदद करने वालों के पीछे जांच एजेंसियों को लगाए जाने के मसले पर भी बातचीत हुई।
किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड निकालने की चेतावनी दी है। इससे पहले किसानों ने 7 जनवरी को दिल्ली के चारों तरफ ट्रैक्टर रैली निकाली थीं।